Homeटेक्नॉलजीSSD VS HDD में क्या अंतर है और आपके लिए कौन–सा सही है?

SSD VS HDD में क्या अंतर है और आपके लिए कौन–सा सही है?

Loading...

क्या आप जानते है कि SSD Vs HDD में क्या अन्तर है? और इनमे से कौन सा better है? यदि नहीं जानते है तो कोई बात नहीं इस आर्टिकल (SSD VS HDD में अंतर) में आपको  details में बताऊंगा।

जब कोई भी एक नया laptop या computer लेने जाता है तो उन सबके मन में एक confusion रहता है। की वह अपने laptop या computer के लिए कौन सा storage drive ले। और उनके पास दो ही option रहता है एक SSD (Solid state Drive) और दूसरा HDD (hard disk drive) है। और उनके पास इसका जानकारी नहीं होने के कारण वो लोग सही निर्णय नहीं ले पाते कि कौन सा storage drive ले।

इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप सही निर्णय ले पाएंगे कि आपके लिए अपने जरुरत के हिसाब से  कौन सा storage drive सही है। क्योंकि हर किसी की जरूरत अलग अलग होती है। और निर्णय भी उन्हीं को रहेगा कि कौन सा storage drive उनके लिए बेहतर है। जरुरत के हिसाब उनको अपने पसंद और अपने बजट पर ध्यान देना होगा। और इन्हीं सभी का ध्यान रख कर हर कोई अपने कंप्यूटर या laptop के लिए एक बेहतर storage drive खरीद सकता है।

तो चलिए जानते है कि SSD Vs HDD में कौन सा बेहतर है? ताकि हर कोई खुद निर्णय ले सके कि उनके जरुरत के हिसाब से उनके लिए कौन सा बेहतर है।

SSD क्या है(what is SSD in Hindi)

SSD

SSD का fullform Solid state Drive है। जो एक new generation का faster storage device or memory device है। जिसको computer या laptop में उपयोग किया जाता है। इसमें pendrive कि तरह थोड़ा ज्यादा स्पेस होता है। इसमें कोई भी moving part नहीं होता है memory stick कि तरह। इसमें data micro chip में स्टोर होता है। Hard drive में एक mechanical arm होता है जिसमें read और write का head होता है जिसकी मदद से storage plotter में सही location से data को read किया जाता है। पुरानी hard disk storage technology काम slow करती है।  इसीलिए कारण SSD faster है HDD से।

चलिए एक उदाहरण के साथ समझते है। जैसे कि मान लीजिए कि एक file किसी एक रूम के एक place पर रखा है और आपको उस फ़ाइल को लाना है। तब उस फाइल को रूम में खोजगे और जब फाइल मिल जाएगा तो आप ले आएंगे। और वहीं आपसे से बोला जाए कि आपको एक फाइल लानी है और वह फाइल आपके सामने है तो आप तुरंत उस फाइल को उठा के लाएंगे। तो अब आपको समझ में आ ही गया होगा कि SSD कितना fast है HDD से

यह एक non volatile storage device है। Non volatile का मतलब है कि  जब कभी भी अपने disk को बंद कर देते है तो इसमें store data delete नहीं होती है। और आपका सारा data वैसा का वैसा ही रहेगा।

यह data को store करने के लिए और पुनः प्राप्त करने के लिए integrated circuit का उपयोग करता है। ये ICs को बेहतर performance और durability को प्राप्त करने के लिए एक interconnected flash memory chip से  जोड़ा जाता है।  SSD rum cooler और बहुत ही कम power को consume करता है जिसकी  वज़ह से laptop और कंप्यूटर या दूसरे divices की बैटरी लाइफ बढ जाती हैं

SSD में जो mechanism उपयोग होते है यही same machanism बड़े USB drive में उपयोग होते है। लेकिन USB drive एक अलग प्रकार का flash chip का इस्तेमाल करता है जिसकी वज़ह से SSD drive महंगे होते है USB drive कि तुलना में। और इन storage devices में इस्तेमाल होने वाली technology ‘ NAND’ है। NAND एक प्रकार का flash memory हैं।

जब पहली बार SSD (storage drive) market में आया था । तब लोगों का इसपर उतना विश्वास नहीं था लेकिन धीरे धीरे इस technology को लोगों द्वारा जोरो सोरो से उपयोग होने लगा। SSD की लाइफ HDD की तुलना में ज्यादा होती है।

SSD में mechanical arm नहीं होता है। तो data को read और write करने के लिए एक embedded processor का उपयोग होता है। जिसे controller भी  कहते है। इसकी मदद से बहुत काम जैसे data को read और write किया जाता है। और SSD drive की speed (कितना fast हैं) को check करने के लिए controller का उपयोग होता है।  data को store, retrieve(पुनः प्राप्त करना), cache और clean up करने के लिए controller जो भी decision लेता है वह drive के overall speed को निर्धारित करता है।

एक अच्छा controller ही SDD की पहचान होती है। आपके मन मे एक सवाल होगा की यह SSD कैसे दिखाता है। तो मै आपको बता दूं कि यह technology को एक plastic या metal case में रखा जाता है। जो कि दिखने में एक बैटरी की तरह होता है।

SSD का फॉर्म फैक्टर एक hard drive की तरह होता है। और जिसके standard size क्रमशः 1.8″, 2.5″, और 3.5″ है। जो बहुत ही आसानी से एक housing और connectors में फिट हो जाता है। और इसके standard size के लिए SATA को एक connector के हिसाब से उपयोग  किया जाता है। और दूसरे SATA भी है जैसे की mini- SATA जो आकार में छोटे होते है। इसीलिए इन्हें mini-SATA (mSATA) कहते है।  और यह बहुत ही आसानी से mini- PCI के express slot में लग सकता है जो laptop में उपयोग होता है।

Loading...

SSD के फायदे(advantages of SSD in Hindi)

  • यह data को बहुत fast read और write करता है।
  • SSD बहुत ही कम power का इस्तेमाल करता है।
  • इसका main advantage यह है कि यह बहुत ही कम noise करता है क्योंकि SSD non-mechanical है।
  • SSD के high speed होने के कारण इसमें फाइल को जल्दी transferred किया जा सकता है

SSD के नुकसान (disadvantages of SSD in Hindi)

  • SSD drive कि cost बहुत ज्यादा होता है HDD की तुलना में।
  • इसमें lost data को recover नहीं किया जा सकता है।
  • और SSD की storage capacity कम होती है HDD की तुलना में।

HDD क्या है(what is HDD in Hindi)

HDD

HDD का fullform Hard disk drive होता है। HDD एक electro-mechanical storage device है। यह  data को store करने के लिए और retrieving (पुनः प्राप्त ) करने के लिए magnetic storage का उपयोग करता है। HDD में data को write और read करने के लिए एक mechanical platters और एक moving head होता है।

और यह head एक छोटे से मोटर के साथ जुड़ा होता है। जो platters को घुमाने में मदद करता है और header’arms  को move करने में मदद करता है। और जितनी जल्दी platter घूमेगा उतनी ही जल्दी HDD perform करेगा। आज के समय में typical laptop drive 5400 RPM (Revolutions per minute) या 7200 RPM से घूमता है। और कई तो 15000 RPM तक घूमता है।

HDD को computer system या laptop में internally installed किया जाता है। जो motherboard के disk controller से सीधा जुड़ा होता है।  HDD एक storage device है जो operating system(OS), installed software, और computer files को store करती है।

HDD का मतलब होता है कि जब आप की computer system या laptop shutdown हो जाता हैं तब पर भी  यह आपके सारे data को सुरक्षित रखेगी। HDD को fixed disk, hard disk या hard drive भी कहते है। HDD को IBM के द्वारा 1956 में introduce किया गया था।

First personal computer system मे 1 megabyte से भी कम  hard drive  होता है और जबकि modern Computer में 1 Terabyte कि hard drive होता है। और जिस कंप्यूटर में external hard drive होता है उसको backup और extra storage के लिए उपयोग करता है।

HDD का उपयोग करने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप इसमें कम कीमत में ज्यादा data को store कर सकते है।  आज के समय में 1TB  storage बहुत ही आम बात है। और इसकी संख्या धीरे धीरे बढ़ती जा रही है। HDD सस्ता होता है SSD कि तुलना में यही कारण है कि लोग आज के समय में सबसे ज्यादा HDD को पसंद करते है।

अगर बात करें कि HDD कैसा दिखता है यह भी SSD की तरह ही दिखाता है। HDD में SATA का उपयोग किया जाता है। Laptop Hard drive की size 2.5″ होती है और computer system की 3.5″ होती है। जितनी बड़ी platter की size होगी उतनी ही ज्यादा storage capacity होगी।

HDD के फायदे( advantages of HDD in Hindi)

  • HDD का main advantage यह है कि इसका cost कम है SSD की तुलना में।
  • HDD fast होता है optical disk की तुलना में।
  • HDD की storage capacity ज्यादा होता है SSD की तुलना में।
  • HDD market में easily उपलब्ध है।

HDD के नुकसान ( disadvantages of HDD in hindi)

  • HDD में reading और write की speed slow होती है SSD की तुलना में।
  • HDD noisy होता है क्योंकि यह एक mechanical है।
  • HDDs बहुत ज्यादा पॉवर को consume करता है SSDs की तुलना में।
  • HDDs का form factor heavy होता है। SSDs की तुलना में।

आपको कैसा लगा?

इस पोस्ट के माध्यम से अब आपको SSD Vs HDD में क्या अन्तर है?  इसके बारे मे आपको पूरी जानकारी जरूर मिल गया होगी। मुझे पूर्ण आशा है की मैंने माउस क्या है के बारे मे पूरी जानकारी सही सही इस पोस्ट की माध्यम से दी है। एक बार मै फिर कहता हूँ की इसके बारे मे आप सबको अवश्य पूरी जानकारी मई गई होगी।

मेरा आपसे एक निवेदन है इस पोस्ट को अपने पड़ोस, रिश्तेदार, भाई-बहन, अपने relationship मे सभी तक इस पोस्ट को जरूर पहुचाए जिससे हमारे बीच जागरूकता होगी और इससे सभी को टेक्नॉलजी के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी हिन्दी मे सरलता और आसानी से मिलेगी जिससे हमारे देश मे कोई भी ऐसा नहीं रहे जिसे टेक्नॉलजी के बारे मे जानकारी न हो।

वो कहते है ना “यदि कुछ अपने भाषा मे सीखने को मिले तो वह सीखने मे भी आनंद आता है” तो बस वही हम भी कहते हैकी आप सबको technology और अन्य चीजों के बारे मे आपको जानकारी केवल और केवल आपके अपने भाषा हिन्दी मे मिले।

आपसे मेरा गुंजारिस है की आपको यह information कैसा लगा, आपके लिए यह कितना लाभदायक है और इसमे क्या त्रुटि है उसे आप हमे comment करके जरूर बताए ताकि मै अगले पोस्ट मे उसे सुधार कर के आपके सामने अच्छे से प्रस्तुत करू जिससे आपको समझने मे और भी आसनी होगी।

धन्यवाद !

Ananthttps://techsnm.com
नमस्कार दोस्तों , मै Anant , TechSNM का founder हूँ। मैंने इस ब्लॉग को इसी उदेश्य से बनाया है की आप सबको Technology आदि के बारे मे इस ब्लॉग की मदत से हिन्दी मे जानकारी दु। मुझे टेक्नॉलजी के नई नई चीजों के बारे मे जानकारी लेना और दूसरों के साथ उस जानकारी को साझा करने मे बहूत ही interest है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen + twenty =

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

नवीनतम