Keyboard किसे कहते है और कितने प्रकार के होते है?

0
keyboard kya hai

Keyboard kya hai  के बारे में आप सबको कुछ तो जरूर जानकारी होगी ही होगी क्योंकि अब तो सब कुछ टेक्नोलॉजी के माध्यम से हो रहा है। यदि हमें कोई भी काम करना होता है तो हम technolgy का मदत लेते है।

आज के युग में कोई भी नहीं यह नहीं चाहता की उसका समय बर्बाद हो। ऐसे में वह कोई भी काम करना चाहते है तो वह टेक्नोलॉजी का सहारा लेते है जिससे उनका काम आसानी से हो जाता है।

तो ऐसे में कंप्यूटर की मदात से बहुत से काम किए जाते है। अब जैसे की Monitor, CPU, Mouse कंप्यूटर के मुख्य भाग है उसी प्रकार से कीबोर्ड भी कंप्यूटर का एक मुख भाग है।

Computer Keyboard का काम टाइपिंग करने के काम में आता है जैसे हमने कीबोर्ड की हेल्प से यह article लिखा है तभी तो आप सब इस आर्टिकल को पढ़ पा रहे हैं। मुख्य रूप से हम कह सकते है कि कीबोर्ड का उपयोग कुछ भी कंप्यूटर में लिखने आदि के लिए किया जाता है।

आजकल तो लोग टाइपिंग सीखने के लिए courses भी करते है । तो ऐसे में कीबोर्ड की जानकारी लेना बहुत ही आवश्यक है। तो चलिए बिना समय गंवाए जानते है कि कीबोर्ड क्या है? कितने प्रकार के होते है?

चलिए शुरू करते है?

कीबोर्ड क्या है – What is Keyboard?

Keyboard टाइपिंग करने का उपकरण है जिसकी मदत से हम कुछ भी लिख सकते है। यह मुख्य रूप से लिखने का कार्य करता है।

कंप्यूटर के कीबोर्ड को typewriter style device कहते है। कंप्यूटर में कीबोर्ड का प्रयोग numbers,letters,command आदि को enter करने के लिए किया जाता है। इन सबको कीबोर्ड में characters के नाम से जाना जाता है। कीबोर्ड द्वारा कंप्यूटर मे अत्यधिक डाटा तो enter करना टाइपिंग कहलाता है। कीबोर्ड बहुत mechanical switches या push buttons contains करता है जिसे keys के नाम से जाना जाता है।

Keyboard computer का मुख्य भाग माना जाता है। यह आयताकार होता है। जो कि प्लास्टिक का बना होता है। कीबोर्ड में छोटे छोटे बहुत सारे बटन लगे होते है।

जैसे माउस wired और वायरलेस होता है उसी प्रकार से कीबोर्ड भी wired और वायरलेस होता है।

Keyboard का फूलफॉर्म क्या है- What is the fullform of keyboard in hindi

कीबोर्ड का कोई अपना particular तो फूलफॉर्म नहीं बनाया गया है यह खुद अपना एक नाम है। जो की एक गैजिट के category मे आता है। पर यदि आप इंटरनेट पर खोजेंगे तो इसके बहूत से फूलफॉर्म मिलेंगे पर मै आपको कीबोर्ड के काम के आधार पर फूलफॉर्म नीचे दिया हूँ।

  • K- Keys
  • E- Electronic
  • Y- Yet
  • B- Board
  • O- Operating
  • A- A to Z
  • R- Response
  • D- Directly

तो ये था कीबोर्ड का फूलफॉर्म आपको इसे पड़ने के बाद मालूम हो गया होगा की कीबोर्ड का कोई फूलफॉर्म नहीं होता है ये सब इनके काम के आधार पर होते हैं।

कीबोर्ड को कंप्युटर से कैसे connect करते है?

कीबोर्ड को कंप्युटर से connect करने के लिए हमे USB (Universal Serial Bus) cable की जरूरत पड़ता है हम कीबोर्ड को कंप्युटर से USB द्वारा आसानी से कनेक्ट कर सकते है।

यदि हम पहले की बात की पहले कैसे keyboard को कंप्युटर से कनेक्ट किया जाता था तो पहले कीबोर्ड को कंप्युटर से कनेक्ट करने के लिए serial connector का use किया जाता था।

अब तो wireless keyboard मार्केट मे उपलब्ध है जिसे हम wire के बजह ब्लूटूथ द्वारा connect करते है। wireless कीबोर्ड से एक ही disadvantage है की इसका बैटरी काभी भी खत्म हो सकता है।

Keyboard को हिन्दी मे क्या कहते है?

आप कीबोर्ड के बारे मे हिन्दी मे जानकारी ले रहे है तो यह तो आवश्यक ही है की कीबोर्ड को हिन्दी मे क्या कहते है- वैसे तो हमने यह बात रखा है की टेक्नॉलजी के सब जीतने भी है किसी का हिन्दी मे अर्थ है तो किसी का नहीं है ।

Keyboard को हिन्दी मे कुंजीपटल के नाम से जाना जाता है।

Keyboard कितने प्रकार के होते है?

कीबोर्ड के प्रकार को keyboard layout भी कह सकते है। वैसे तो कीबोर्ड layout तो बहूत से प्रकार के है जिन्हे अलग अलग भाषा के हिसाब से बनाया जाता है। पर अभी तक यह नहीं ज्ञात है की कीबोर्ड के मुख्य layout कौन से है। तो ऐसे मे आपको कीबोर्ड layout के types के बारे मे जानकारी दूंगा।

keyboard layouts के प्रकार

  • QWERTY: यह कीबोर्ड का एक प्रकार का layout है जिसका नाम इसके कीबोर्ड के ऊपर के रो से लिया गया है QWERTY. यह कीबोर्ड पूरे विश्व मे बहूत अधिक popular है और पूरे विश्व मे लोग सबसे जादा इसी कीबोर्ड का उसे करते है। इसको सब इतना use करते है जैसे लगता है की उन लोगों को other केयबोर के बारे मे जानकारी ही नहीं है या फिर other कोई keyboards होते ही नहीं है।
  • AZERTY: यह कीबोर्ड का एक प्रकार के layout है जो France देश द्वारा बनाया गया था जिसे france कीबोर्ड भी कहते है। यह QWERTY कएबोर्ड के layout से कुछ अलग है। इसका जादा use नहीं होता है।
  • DVORAK: या भी सभी की तरह कीबोर्ड का layout है। जिसे बनाया गया है ताकि इससे fast typing किया जा सके। यदि हम बात करे QWERTY और AZERTY कीबोर्ड की तुलना मे हम इससे fast टायपिंग कर सकते है।

Keyboard कौन सा डिवाइस है?

कीबोर्ड एक input device है क्यों की जब हम कीबोर्ड द्वारे टायपिंग करते है तो यह टायपिंग कीये गए data को मानिटर के screen पर इनपुट कर के हमे दिखाता है।

Keyboard मे keys कितने प्रकार के होते है?

Keyboard मे keys कितने प्रकार के होते हैं यह भी जानना बहूत ही आवश्यक है। क्योंकी कीबोर्ड मे keys का ही काम होता है। तो ऐसे मे इन्हे जानना ही चाहिए।

Keyboard मे keys मुख्य रूप से 7 प्रकार के होते है

  1. Numeric keys
  2. Alphabet keys
  3. Function Keys
  4. Special Keys
  5. Arrow Keys
  6. Control Keys
  7. Indicator Light

Numeric Keys:- Keyboard  मे जीतने भी numbers है 0 से 9 तक सभी को numeric केस कहते है । इन्हे हम calculator keys भ कह सकते है क्यों की इनमे कैलक्यूलेटर की तरह सभी नम्बर होते है।

Alphabet Keysइंग्लिश के alphabet मे जीतने भी alphabets है A to Z इन्हे keyboard मे alphabet keys कहते है। ये button keyboard के बीच मे होते है।

Function KeysFunction keys ये कीबोर्ड के सबसे ऊपर लगे होते है। F1 से लेकर F12 तक सभी buttons function keys मे आते है. यह कीबोर्ड का महत्व पूर्ण buttons भी माने जाते है। ये buttons computer मे कुछ विशेष कामों के लिए प्रयोग किया जाता है।

Space Keyकीबोर्ड मे space key का देखा जाए तो सबसे जादा उपयोग होता है। space key keyboard के buttons मे सबसे बाद होता है जिसे हम space key कहते है। इस key का उपयोग space देने के लिए किया जाता है।

Arrow Keysकीबोर्ड मे arrow keys चार होते है ।

  1. Left Arrow
  2. Right Arrow
  3. Up Arrow
  4. Down Arrow

Control Keys: Control keys का use दूसरे keys के साथ होता है। कंट्रोल केस का उपयोग किसी मुख्य काम के लिए जादा उपयोग किया जाता है। Ctrl key, Alt key, Window key, Esc key ,Menu key, Scroll key, Pause Break key, PrtScr key ये सब control keys है।

Indicator Light: कीबोर्ड मे तीन प्रकार की लाइट लागि होती है है जीने indicator light कहा जाता है।

  1. NUM Lock
  2. Scroll Lock
  3. Caps Lock

Num Lockजब कीबोर्ड मे पहली लाइट अर्थात num lock लाइट जली तो इसका मतलब की numeric keypad चालू है और यदि नहीं जली तो इसका मतलब numeric keypad band है।

Caps Lockजब कीबोर्ड मे 2nd लाइट अर्थातcapslock लाइट जली तो इसका मतलब की letters Uppercase मे है और यदि बंद हुए तो इसका मतलब letters Lowercase मे है।

Scrol lock जब कीबोर्ड मे third लाइट अर्थातscroll lock लाइट जली तो इसका मतलब की यह scrolling का संकेत दे रहा है।

Keyboard में कितने number keys होते है?

कीबोर्ड मे 10 numbers keys होते है।

Keyboard में कितने function keys होते है?

कीबोर्ड मे कुल 12 fuction keys होते है।

Keyboard में कितने alphabetic keys होते है?

कीबोर्ड मे कुल 26 alphabetic keys होते है।

Keyboards के Shortcut keys

Ctrl+A All select
Ctrl+B Bold
Ctrl+C Copy
Ctrl+D Font
Ctrl+E Centre
Ctrl+F Fine
Ctrl+G GO to
Ctrl+H Replace
Ctrl+I Italic
Ctrl+J Justify
Ctrl+K Hyperlink
Ctrl+L Align text left
Ctrl+M Hanging indent
Ctrl+N new document
Ctrl+O Open
Ctrl+P Print
Ctrl+Q Add space after paragraph
Ctrl+R Align text to right
Ctrl+S Save
Ctrl+T Left Indent
Ctrl+U Underline
Ctrl+V Paste
Ctrl+W Close
Ctrl+X Cut
Ctrl+Y Redo
Ctrl+Z Undo
Shortcut keys for Function keys
F1 Display help
F2 Rename
F3 Search
F5 Refresh
F6 Address bar
F7 Spelling check and grammar check
F8 Access the boot menu
F9 Send and receives
F10 Activates the menu bar

कीबोर्ड का परिभाषा- आपको कैसा लगा

इस पोस्ट के माध्यम से अब आपको keyboard क्या है इसके कितने प्रकार होते है? इसके बारे मे आपको पूरी जानकारी जरूर मिल गया होगी। मुझे पूर्ण आशा है की मैंने माउस क्या है के बारे मे पूरी जानकारी सही सही इस पोस्ट की माध्यम से दी है। एक बार मै फिर कहता हूँ की इसके बारे मे आप सबको अवश्य पूरी जानकारी मई गई होगी।

मेरा आपसे एक निवेदन है इस पोस्ट को अपने पड़ोस, रिश्तेदार, भाई-बहन, अपने relationship मे सभी तक इस पोस्ट को जरूर पहुचाए जिससे हमारे बीच जागरूकता होगी और इससे सभी को टेक्नॉलजी के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी हिन्दी मे सरलता और आसानी से मिलेगी जिससे हमारे देश मे कोई भी ऐसा नहीं रहे जिसे टेक्नॉलजी के बारे मे जानकारी न हो।

वो कहते है ना “यदि कुछ अपने भाषा मे सीखने को मिले तो वह सीखने मे भी आनंद आता है” तो बस वही हम भी कहते हैकी आप सबको technology और अन्य चीजों के बारे मे आपको जानकारी केवल और केवल आपके अपने भाषा हिन्दी मे मिले।

आपसे मेरा गुंजारिस है की आपको यह information कैसा लगा, आपके लिए यह कितना लाभदायक है और इसमे क्या त्रुटि है उसे आप हमे comment करके जरूर बताए ताकि मै अगले पोस्ट मे उसे सुधार कर के आपके सामने अच्छे से प्रस्तुत करू जिससे आपको समझने मे और भी आसनी होगी।

धन्यवाद !

Previous articleमाउस क्या है? और यह कितने प्रकार के होते है?
Next articleSSD VS HDD में क्या अंतर है और आपके लिए कौन–सा सही है?
नमस्कार दोस्तों , मै Anant , TechSNM का founder हूँ। मैंने इस ब्लॉग को इसी उदेश्य से बनाया है की आप सबको Technology आदि के बारे मे इस ब्लॉग की मदत से हिन्दी मे जानकारी दु। मुझे टेक्नॉलजी के नई नई चीजों के बारे मे जानकारी लेना और दूसरों के साथ उस जानकारी को साझा करने मे बहूत ही interest है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × three =